अम्मी का यार बहन का शौहर

Posted on

रंडी मॉम सिस्टर सेक्स कहानी में पढ़ें अब्बू के इन्तकाल के बाद मेरी मम्मी ने आमदनी के लिए एक आदमी को कमरा किराए पर दे दिया. उसने मेरी अम्मी और बहन के साथ क्या किया?

दोस्तो, मैं आपका दोस्त असलम हूं। मेरी पिछली कहानी
डॉक्टरनी और नर्स की चूत चुदाई का मजा
को आप सब ने बहुत पसंद किया। कहानी को लेकर ईमेल भी आए कि मैं और भी नयी कहानी लेकर आऊं। तो आज मैं आपके लिए अपनी नयी सेक्स स्टोरी लेकर आया हूं।

कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको बता दूं कि मुझे बहुत सारे ईमेल आते हैं, लोग पूछते हैं कि कहानी रियल है या फेक। तो मैं आप लोगों को बता दूं कि मेरी हर कहानी सत्य घटना पर आधारित होती है।

अब मैं रंडी मॉम सिस्टर सेक्स कहानी शुरू करता हूं।

मेरे घर में मेरी अम्मी यास्मीन और बहन सबीना रहते हैं।

मेरी अम्मी का जिस्म 34-32-36 और उम्र 41 की है। मेरी बहन का जिस्म 32-26-34 है, उसकी उम्र 19 साल की है।

मेरे अब्बू मजदूरी का काम करते हैं।
वो दिनभर काम करके थक जाते थे इसलिए अम्मी को खुश नहीं कर सकते थे, अम्मी निराश रहती थी।
अम्मी की एक सहेली थी नफीसा आंटी।

नफीसा आंटी अक्सर हमारे घर आया जाया करती थी और अम्मी की नफीसा आंटी से खूब जमती थी।

बातों बातों में एक दिन मैंने नफीसा आंटी को अम्मी से कहते सुना- तेरा शौहर तुझे खुश रखता है या नहीं? तू हमेशा ही उदास क्यों रहती है?
उस वक्त अम्मी ने उनसे कुछ नहीं कहा और वो फिर ज्यादा उदास हो गई।

फिर ऐसे ही दिन बीतने लगे और फिर हमारे जीवन में बहुत बड़ी घटना हुई जब एक दिन दुर्घटना में अब्बू चल बसे।

उसके बाद हमारी परेशानी और ज्यादा बढ़ गई।
मेरे अब्बू ने बहुत सारा पैसा उधार लिया हुआ था।

उनके जाने के बाद मैंने पढ़ाई छोड़ दी और मैं एक फैक्ट्री में काम करने लगा।
मेरी पगार से घर मुश्किल से ही चल रहा था।
फिर मैं बीच में बीमार हो गया और वो काम भी छूट गया।

उसके बाद मेरी बहन ने ट्यूशन देना शुरू किया लेकिन ट्यूशन की कमाई में घर का खर्च नहीं चल पाता था।

एक दिन फिर नफीसा आंटी हमारे घर आई।
वो अम्मी से कुछ बात रही थी तो मैं सुनने लगा।

आंटी अम्मी से कह रही थी कि किसी मर्द को पटा ले, घर की तंगी दूर हो जाएगी।
अम्मी मना करने लगी।

लेकिन आंटी ने अम्मी को एक साइट के बारे में बता दिया जो मुझे सुनाई नहीं दिया।
फिर वो खोई खोई सी रहने लगी।

कई बार मैंने अम्मी को रात में किसी से फोन पर बात करते भी सुना।

एक दिन मैं अम्मी के फोन को चेक करने लगा तो उसमें कई लोगों के नम्बर थे।
उनमें से एक का नाम दानिश था जिनके साथ अम्मी की बहुत ज्यादा बात होती थी।

मैंने उनकी चैट पढ़ी थी।
दोनों ने काफी सारी बातें की हुई थी।

2 दिन के बाद एक आदमी हमारे घर आया, किराये पर रहने के लिए।
उसका नाम दानिश था।

मैं सकते में आ गया।
मैंने सोचा कि कहीं ये वही दानिश तो नहीं जिससे अम्मी बात करती है!

फिर मैंने चुपके से मौका देख अम्मी के फोन में दानिश की फोटो देखी।
यह वही आदमी था।

लेकिन मैंने सोचा कि अगर किराये के लिए आया है तो हमारे लिए अच्छी बात है।
घर में कुछ आमदनी आ रही थी तो मैं भी खुश था।
अम्मी ने मुझे ऊपर वाले रूम में शिफ्ट होने के लिए कह दिया क्योंकि नीचे वाला रूम दानिश को चाहिए था।

नीचे के दूसरे वाले रूम में अम्मी और मेरी बहन रहती थी।

मुझे पता था कि अगर दानिश हमारे घर में रहने लगा तो ये अम्मी को जरूर चोदेगा।

एक दिन दानिश घर से बाहर था और उसके रूम का दरवाजा भी खुला था।

मैंने मौका देखकर दानिश के रूम में एक कैमरा सेट कर दिया।
मैं अब अम्मी और दानिश पर नजर रखने लगा।

एक दिन मैंने उन दोनों को सुहागरात की बात करते सुना।
मैंने भी उनकी सुहागरात देखने का प्लान कर लिया।

दानिश के रूम में लगे कैमरा को मैं पहले ही चालू कर चुका था।
मेरी बहन रात 10 बजे ही सो जाया करती थी।
उसके सोने के बाद अम्मी दानिश के रूम में गई।

वो दुल्हन की तरह तैयार होकर गई थी।
दानिश ने रूम का दरवाजा बंद कर लिया और फिर आकर अम्मी के सिर से ओढ़नी हटा दी।

उन दोनों ने एक दूसरे को बांहों में भर लिया।
दोनों एक दूसरे के बदन को सहलाने लगे।

दानिश अम्मी की गर्दन और गालों पर किस कर रहा था।
फिर उसके हाथ मेरी अम्मी के बूब्स पर पहुंच गए।

वो बूब्स को दबाने लगा और अम्मी उसकी बांहों में पिघलने लगी।

कुछ देर बूब्स को दबाने के बाद उसने जल्दी से अम्मी के कपड़े उतार डाले और उसको नंगी कर लिया।

उसने अम्मी को बेड पर लिटा लिया और उसकी टांगों को खोलकर उसकी चूत को चाटने लगा।
अम्मी बेड पर कसमसा रही थी।

मुझे उनकी आवाज नहीं सुनाई दे रही थी लेकिन हरकतों से साफ पता लग रहा था कि वो चुदासी हो रही थी।

दानिश ने चूत चाटने के बाद अपने कपड़े भी उतार फेंके और नंगा हो गया।

उसने अम्मी का हाथ खींचकर बेड पर बैठाया और खुद नीचे फर्श पर खड़ा होकर अम्मी का सिर अपने लंड की तरफ खींचते हुए अम्मी के मुंह में लंड दे दिया।

अम्मी गर्मजोशी के साथ दानिश के लंड को चूसने लगी।
दानिश ने अम्मी के सिर को दबाते हुए उसके मुंह को चोदना शुरू कर दिया।

कुछ देर लंड चुसवाने के बाद उसने अम्मी को फिर से बेड पर पटक लिया और उसकी चूचियों पर झपट पड़ा।
वो जोर जोर से अम्मी के बूब्स को दोनों हाथों से दबाने लगा।

मैं कैमरा में देख पा रहा था कि वो अपने हाथों की पूरी ताकत लगा रहा था।

अम्मी को बहुत दर्द हो रहा था और वो छटपटा रही थी।
वो उसको हटाते हुए उठने की कोशिश कर रही थी लेकिन दानिश उसको फिर से पीछे की ओर धक्का देते हुए लिटा देता था।

फिर उसने अम्मी की चूत में दो उंगली डाल दीं और तेजी से अंदर बाहर करने लगा।

अब मेरी नंगी अम्मी तड़पने लगी और हाथों को बेड पर पटकने लगी।

कुछ देर चूत में उंगली करने के बाद उसने अपने लंड पर थूक लगाया और अम्मी की चूत में लंड लगाकर लेट गया।
उसने दोनों हाथों से अम्मी की जांघों को फैलाया और उसकी चुदाई करने लगा।

ये देखकर मैं भी बहुत गर्म हो गया था। मैं भी अपने लंड की मुठ मारने लगा।

फिर उसने कुछ देर चोदने के बाद अम्मी को बेड पर कुतिया की पोजीशन में कर लिया और पीछे से बेड पर चढ़कर अम्मी की चूत मारने लगा।

कुछ देर घोड़ी पोजीशन में चुदाई करने के बाद उसने अम्मी की गांड में लंड दे दिया और अम्मी की गांड भी चोद डाली।

लगभग 40 मिनट तक उन दोनों की चुदाई चली और वो अम्मी की गांड चोदते हुए उनकी गांड में झड़ गया।

चूत और गांड चुदवाने के बाद मेरी अम्मी ने अपने कपड़े उठाए और नंगी ही उसके रूम से निकल गई।

अगली सुबह सब कुछ सामान्य था।
अम्मी भी काफी खुश लग रही थी।
मैं जान गया था कि ये खुशी अम्मी को चूत मरवाकर मिली है।

फिर अक्सर उन दोनों की चुदाई चलने लगी।
मैं भी अपनी अम्मी की चुदाई देखकर मुठ मारा करता था।

वो अम्मी को चोदते हुए उसकी रिकॉर्डिंग भी किया करता था।

एक दिन मैंने अम्मी का फोन उठा लिया, ये देखने के लिए कि उन दोनों के बीच अब क्या चल रहा है।

चैट में मैंने पढ़ा कि वो मेरी बहन सबीना को चोदने की बात कह रहा था।
अम्मी सबीना की चुदाई के लिए तैयार नहीं थी लेकिन दानिश उसको धमकी दे रहा था कि वो अम्मी की चुदाई की वीडियो इंटरनेट पर डाल देगा।
इस कारण अम्मी थोड़ी परेशान रहने लगी थी।

अब अम्मी सबीना से प्यार से बात करने लगी थी, वो उसकी हर बात मानती थी।
मैं समझ गया था कि वो धीरे धीरे सबीना को दानिश से चुदाई करवाने के लिए पटा रही थी।

एक रात को मैं दानिश के रूम का कैमरा देख रहा था।
मैं सोच रहा था कि अम्मी चुदाई करवाने आएगी लेकिन उस रात वो सबीना को दानिश के रूम में ले गई।

मेरी बहन ने ऊपर काली ब्रा और नीचे जीन्स पहन रखी थी।
वो बहुत ही सेक्सी लग रही थी।

रूम में जाने के बाद कुछ देर उन तीनों में बातें होती रहीं।

फिर दो आदमी रूम के दरवाजे पर आए।
वो दोनों अंदर आने लगे।

तभी दानिश और अम्मी में कुछ कहा-सुनी हुई और उसने अम्मी को थप्पड़ लगा दिया।
फिर उसने अम्मी को रूम से बाहर जाने के लिए कहा।
अम्मी वहां से गुस्से में चली गई।

उनके जाने के बाद दानिश ने सबीना को अपनी गोद में बैठने के लिए कहा।
वो उनकी गोद में बैठ गई।

दानिश ब्रा के ऊपर से ही मेरी बहन की चूचियों को दबाने लगा।

उन दोनों आदमियों ने अपने लंड निकाल लिए और सबीना के सामने खड़े हो गए।
दोनों ने अपने लंड सबीना के हाथों में थमा दिए।

धीरे धीरे सबीना भी गर्म होने लगी।

उन दोनों आदमियों के लंड पूरे तन गए थे।
वो दोनों बारी बारी से मेरी बहन के मुंह में लंड देने लगे।
सबीना बारी बारी से दोनों के लंड चूस रही थी।

कुछ देर लंड चुसवाने के बाद उन्होंने सबीना को खड़ी किया।

दानिश ने उसकी ब्रा खोल कर उसकी चूचियां नंगी कर दीं और उन आदमियों ने दोनों तरफ से मिलकर मेरी बहन की जीन्स उतार दी।
फिर उन्होंने उसकी पैंटी भी उतार दी।

अब सबीना उन तीनों के सामने नंगी खड़ी थी।
वो तीनों भी जल्दी से अपने कपड़े उतार कर नंगे हो गए और सबीना के जिस्म को चूमने चाटने लगे।
कभी वो उसकी चूत को सहला रहे थे और कभी उसके बूब्स को दबा रहे थे।
दानिश सबीना के होंठ चूस रहा था।

अब सबीना भी दानिश का साथ दे रही थी।
फिर उन्होंने सबीना को बेड पर लिटा लिया।

वो दोनों आदमी उसके सिर की ओर गए और बारी बारी से उसके मुंह में लंड देकर चोदने लगे।
दानिश ने मेरी बहन की चूत में लंड दे दिया और चोदने लगा।

सबीना छटपटा रही थी लेकिन उसकी चूत में दानिश पूरा लंड उतार रहा था।
कुछ देर में सबीना को मजा आने लगा और वो गांड उठा उठाकर चूत चुदवाने लगी।

थोड़ी देर चोदने के बाद फिर दूसरा आदमी आया और सबीना की चूत मारने लगा।
फिर ऐेसे ही तीसरे ने भी उसकी चूत मारी।

अब उन्होंने सबीना को घोड़ी बना लिया।
दानिश ने पीछे से मेरी बहन को चोदना शुरू किया।
वो दोनों आदमी घोड़ी बनी सबीना के सामने घुटनों के बल आकर बारी बारी से उसको लंड चुसवाने लगे। वो उसके सिर को पकड़ कर उसका मुंह चोद रहे थे।

एक आदमी तेजी से उसके मुंह में धक्के मारने लगा और फिर एकदम से पूरा लंड उसके गले तक फंसाकर रुक गया।
शायद उसका माल सबीना के मुंह में छूट गया था।

फिर वो एक तरफ लेट गया।

दूसरा आदमी भी आया और लंड चुसवाने लगा, फिर तेजी से उसके मुंह को चोदते हुए थम गया।
दोनों का वीर्य सबीना के मुंह में जा चुका था।

अब दानिश ने सबीना की गांड में लंड पेल दिया और वो छटपटाने लगी।
दानिश ने उसको पकड़ लिया और चोदने लगा।

कुछ देर बाद सबीना आराम से गांड मरवाने लगी।

फिर दानिश ने 15 मिनट की चुदाई के बाद उसकी गांड में धक्के मारते हुए चुदाई रोक दी।

वो कुछ सबीना के ऊपर पड़ा रहा।
फिर वो उठ गया और सबीना की चूत पर अपने सोए हुए लंड से सहलाने लगा।
सबीना भी थकी सी लग रही थी।

कुछ देर आराम करने के बाद वो तीनों बातें करने लगे।

फिर दानिश रूम के बाहर चला गया, मुझे लगा अब सबीना अपने रूम में जाएगी लेकिन अब कुछ देर बाद दानिश के साथ अम्मी भी रूम में दाखिल हुई।

अम्मी के आने के बाद वो चारों बेड पर आ गए।
अब मेरी बहन और अम्मी नंगी ही उन तीनों के बीच में बेड पर थीं।
वो तीनों अम्मी और सबीना के जिस्म से खेलने लगे।

कुछ देर बाद ही उन तीनों के लंड बारी बारी से मेरी अम्मी और बहन के मुंह में जा रहे थे।
फिर तीनों ने मिलकर मेरी अम्मी और बहन की चूत मारी।
एक घंटे तक मॉम सिस्टर सेक्स चलता रहा।

मेरी अम्मी की चूत और गांड उन तीनों ने मारी।

फिर चुदने के बाद अम्मी और बहन वहां से आ गईं।
उसके बाद से दानिश अक्सर उन दोनों आदमियों को बुलाता रहता है।

उनमें से एक का नाम सुरजीत है और दूसरे का राजीव है।
वो तीनों मेरी बहन और अम्मी की चुदाई करते हैं।

अब मॉम सिस्टर सेक्स के कारण हमारे घर में पैसे की कमी नहीं है लेकिन अम्मी और बहन की चुदाई बहुत होती है।
मेरी बहन अब एकदम माल बन गई है और दानिश उसका शौहर हो गया है।

आपको ये स्टोरी कैसी लगी मुझे जरूर बताना।

मैं आपको अपनी अम्मी और बहन की चुदाई के और भी किस्से बताना चाहता हूं।
लेकिन आप पहले इस रंडी मॉम सिस्टर सेक्स कहानी पर अपना फीडबैक देना।
मेरा ईमेल आईडी है
[email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *