मेरे सामने मेरी मॉम की चुत गांड चुदी

डबल सेक्स की यह कहानी मेरी मम्मी की चूत गांड चुदाई की है, वो भी मेरे सामने! मैं जुए में पैसे हार गया तो मेरी मम्मी मेरी मदद के लिए आई.

दोस्तो, मेरा नाम लव है. मैं 19 साल का हूँ. मेरे पापा का नाम अनिल है. मेरे पापा अक्सर बीमार रहते हैं, इसलिए मेरी मॉम जॉब करती हैं.

यह डबल सेक्स की यह कहानी मेरी मॉम की है. मेरी मॉम का नाम कल्पना है, उनकी उम्र 39 साल है.

कुछ दिन पहले मुझे मेरे दोस्तों ने जुआ खेलने की आदत लगा दी, जिससे मैं हमेशा जुआ खेलने का आदी हो गया था.

एक बार लालच में आकर मैं बहुत पैसे हार गया और मेरे पास कुछ भी नगदी नहीं बची थी.

मैं जिस आदमी (अब्दुल उम्र 32 साल) से जुए में हार गया था, उसने अपने एक और दोस्त (राहुल उम्र 30 साल) को बुला लिया और वो दोनों मुझसे पैसे मांगने लगे.

वो मुझे दूर एक सुनसान जगह उनके अड्डे पर ले गए और मेरा फोन छीन लिया.
मैं बहुत घबरा गया और रोने लगा.

फिर उन्होंने मुझे किसी से पैसे लाने को कहा.
इतने पैसे तो किसी के पास नहीं थे.

आखिर में मैंने अपनी मॉम को कॉल किया और उन्हें सारी बात बताई.
मॉम तुरंत मेरे पास आने की बोलीं और कुछ ही देर में पहुंच गईं.

मैं- ये मुझे जाने नहीं दे रहे हैं मॉम.
मॉम- मेरे बेटे को जाने दीजिये भैया!

अब्दुल- हमारा पैसा दे दो और ले जाओ.
राहुल- नहीं तो हम इसे जाने नहीं देंगे.

मॉम- अभी मेरे पास इतने पैसे नहीं हैं. लेकिन मैं वादा करती हूँ कि थोड़े दिन में दे दूँगी. आप प्लीज़ मेरे बेटे को छोड़ दीजिए.
अब्दुल- हमारा पैसा अभी दो और ले जाओ.

मॉम- हे भगवान मैं क्या करूं. प्लीज़ मेरी मदद करो, क्या फिलहाल इसे ले जाने के लिए आपके पास कुछ और रास्ता नहीं है?
राहुल- जल्दी से पैसे की व्यवस्था करो … नहीं तो अच्छा नहीं होगा, समझी.

मैं- मॉम मुझे छुड़ा लो प्लीज़.

अब्दुल मेरी मॉम से बोला- तेरा नाम क्या है?
मॉम- कल्पना.

अब्दुल- तुम क्या करती हो?
मॉम- मैं जॉब करती हूँ.

अब्दुल- फिर तो तेरे पास पैसे होंगे, पैसे लेकर आ जाओ और इसे ले जाओ.
मॉम- इतने पैसे अभी मेरे पास नहीं है, आप थोड़े दिन का समय दे दीजिए, मैं आपके सारे पैसे चुका दूँगी.

अब्दुल- नहीं, हमें सारे के सारे पैसे अभी चाहिए.
राहुल ने अब्दुल के कान में फुसफुसाते हुए कुछ कहा.

अब्दुल- ठीक है कल्पना, चलो कमरे के अन्दर चलो. वहीं बात करते हैं.
मॉम- ठीक है.

राहुल मुझसे बोला- तू भी चल!
मैं- ठीक है.

हम सब अन्दर रूम में आ गए और एक सोफे पर मेरी मॉम बैठ गईं.

फिर उन दोनों ने मुझे एक कोने में बैठा दिया.
उसके बाद राहुल और अब्दुल दोनों मॉम के आजू बाजू बैठ गए.

राहुल- कल्पना तुझे तेरे बेटे को छुड़ाना है, तो तुझे हमें ख़ुश करना होगा.
मॉम- नहीं, मैं ऐसा नहीं कर सकती.

अब्दुल- तो फिर हम तेरे बेटे को नहीं छोड़ेंगे.
मैं- मॉम ये क्या करने को कह रहे हैं?

राहुल- चुप हो जा और चुपचाप बैठ कर देख.
तभी राहुल ने मॉम को वासना से देखा.

मेरी मॉम के दिमाग में शायद पापा के शारीरिक संबंध काफी समय से नहीं बने थे इसलिए उनकी आंखों में एक चमक आ गई.
मगर उनके मन में वो सब अकेले में करने का मन करने लगा था. वो मुझसे शायद झेम्प रही थीं.

उन्होंने मेरी तरफ कातर भाव से देखा.
मैं समझ गया कि ये दोनों मेरी मॉम को चोदना चाहते हैं और मॉम मेरे सामने उनसे खुल नहीं पा रही थी.

मैंने अपनी आंखें बंद कर लीं और सर हिला कर मॉम को अपनी तरफ से सहमति दे दी.

मॉम ने उन दोनों से कहा- देखो भैया … मैं आप दोनों से अकेले में कुछ बात करना चाहती हूँ.

अब्दुल ने भी समझ लिया कि मेरी मॉम चुदने को राजी हो गई हैं.
मगर वो परले दर्जे का सुअर किस्म का आदमी निकला.

वो मेरी मॉम से बोला- तुमको जो भी बात करनी हो, यहीं करो.
मॉम ने उसके कान में कहा- मैं तुम दोनों के साथ हर बात में राजी हूँ. मगर प्लीज़ मुझे मेरे बेटे के सामने कुछ भी करने में शर्म आ रही है.

राहुल बोला- उससे हमें क्या लेना देना. फिर तुम्हारा लौंडा कौन सा सीधा है, ये भी तो रंडियां चोदता है.
ये शब्द सुन कर मैं शर्मा गया और मैंने अपना सर नीचे कर लिया.

अब राहुल ने मेरी मॉम से कहा- जल्दी फैसला करो मैडम … हमारे पास ज्यादा समय नहीं है.
मेरी मॉम ने कुछ सोचा और मेरी तरफ देख कर बोलीं- तेरी वजह से आज मैं इन दोनों के साथ राजी हो रही हूँ. तुम ये बात किसी से मत कहना.

मैंने हामी भर दी.
अब मेरी मॉम ने उन दोनों की बात मान ली.

मेरी मॉम की रजामंदी देख कर राहुल और अब्दुल खुश हो गए और उन दोनों ने मेरी मॉम को कस कर पकड़ लिया.

अब मेरी मॉम ने अपना रूप बदल दिया.
वो बोलीं- जब तुम दोनों को मेरे साथ मस्ती करनी ही है, तो इस तरह से छीना-झपटी से क्या मजा आएगा. कुछ तसल्ली रखो.

अब्दुल समझ गया और राहुल से बोला- अबे राहुल ये कल्पना तो पार्टी करने की बात कह रही है. चल सारा इंतजाम कर.
राहुल की आंखें भी चमकने लगीं.

उसने झट से मेरी मॉम को अपने गले से लगाया और बोला- ये बात हुई न डार्लिंग. अब हम तीनों मिल कर पार्टी करते हैं.
मेरी मॉम ने एक बार फिर से उन दोनों से कहा- हां पार्टी करते हैं मगर तुम मेरे बेटे को बाहर भेज दो.

मगर अब्दुल बोला- नहीं, ये सब इसी के सामने होगा. ये भोसड़ी का आज अपनी मां की चूत चुदाई होती हुई देखेगा.

मेरा मन भी आज अपनी मॉम कल्पना की चुदाई देखने का बन गया था. हालांकि मैं चुप था.

तभी राहुल ने अलमारी से व्हिस्की की बोतल और गिलास निकाले और मुझसे बोला- चल अब तू हमारी सेवा कर!
मैं उसकी तरफ देखने लगा.

तो वो बोला- अबे जा न किचन से पानी और नमकीन ला. और सुन उधर से माचिस भी ले आना.
मैं किचन में गया और उधर से पानी की दो बोतल नमकीन और माचिस ले आया.

अन्दर आया तो देखा कि मेरी मॉम तीन गिलासों में पैग बना रही थीं.
मैंने पानी की बोतल टेबल पर रख दीं और नमकीन की प्लेट रख दी.

तभी अब्दुल ने मुझे गाली दी- हट मादरचोद, उधर कोने में जा और बैठ कर अपनी मॉम की मस्त जवानी लुटते देख.
मॉम ने मेरी तरफ हंस कर देखा और बोलीं- लव जा अपने दोस्तों की बात मान!

मैं सामने जाकर बैठ गया.

अब उन तीनों ने पैग पीने शुरू कर दिए.

एक एक पैग दारू पीने के बाद अब्दुल और राहुल ने सिगरेट सुलगा ली और धुंआ उड़ाने लगे.
मेरी मॉम ने राहुल के हाथ से सिगरेट ले ली और अपने होंठों में लगा कर मेरी तरफ धुंआ उड़ाने लगीं.

मेरी मॉम मुझसे बोलीं- आज तेरी वजह से मुझे ये सब करना पड़ रहा है लव!
मैं सॉरी बोला.

तभी राहुल ने दूसरा पैग बना कर मेरी मॉम के होंठों से लगा दिया और बोला- चल मेरी जान, अब जल्दी से कुछ डांस करके दिखा तो मूड बने.

मेरी मॉम ने अपना पैग पिया और उन दोनों ने भी अपने पैग खत्म कर लिए.

राहुल ने मेरी मॉम को खड़ी होने के लिए कहा तो मॉम खड़ी हो गईं.
अब्दुल ने मेरी मॉम की गांड पर हाथ फेर कर कहा- तू तो बड़ी मस्त माल है कल्पना. अब जल्दी से कपड़े उतार कर नंगी हो जा.

राहुल ने मेरी मॉम के कपड़े उतारने शुरू कर दिए.
मैं फटी हुई आंखों से अपनी मॉम की जवानी को देख रहा था.

कुछ ही समय में मेरी मॉम एकदम नंगी हो गईं.
मेरी मॉम के तने हुए चूचे और एकदम दूध सी गोरी चुत देख कर मेरी हालत खराब होने लगी और मेरा लंड भी तुनकी मारने लगा.

अब राहुल ने अपने मोबाइल में गाना लगा दिया और मॉम नंगी डांस करने लगीं.

मेरी मॉम के उछलते चूचे देख कर उन दोनों ने भी अपने कपड़े उतार दिए और मजा लेने लगे.

मैंने देखा कि अब्दुल का लंड फूलने लगा था. वो लगभग दस इंच का मोटा सा लौड़ा था.

उसने मेरी मॉम से लंड पकड़ने के लिए कहा.
मॉम ने उसके लंड को देख कर कहा- उई मां ये क्या है.
अब्दुल हंस कर बोला- साली ये लंड है … आज तेरी चुत और गांड में घुस कर तहलका मचाएगा. चल आ जा!

मेरी मॉम अब्दुल के पास आ गईं और अपने हाथों से अब्दुल के लंड को सहलाने लगीं और बालिश्त लगा कर लंड को नापने लगीं.
अब्दुल हंसने लगा और मॉम की चूची दबा कर बोला- नाप लिया मेरी जान … अब चूस जल्दी से.
मॉम ने कहा- हां अभी करती हूँ.

मॉम ने लंड के टोपे पर जीभ फिरा कर कहा- इतना बड़ा लंड मैंने सिर्फ पोर्न में ही देखा था. आज पहली बार रियल में देख रही हूँ.
अब्दुल लंड हिला कर बोला- हां देख ले मेरी रांड … आज से ये लौड़ा तेरा हुआ, जब तू चाहेगी, आ जाना और अपनी चुत में ले लेना.

तभी राहुल ने भी चड्डी उतार दी और अपना लंड निकाला.

उसे देखकर मॉम और ज्यादा हैरान हो गईं. राहुल का लंड अब्दुल के लंड से भी बड़ा था.

अब वो दोनों मेरी मॉम से लंड चुसवाने लगे.
मेरी मॉम लंड चूसती हुई सच में किसी पेशवर रंडी सी लग रही थीं.
मेरी पैंट में भी मेरा लंड खड़ा हो गया था.

कुछ देर बाद अब्दुल ने कंडोम का पैकेट मॉम को दिया और उनसे कहा- चल छतरी पहना दे.
मॉम अपने हाथों से दोनों के लंड को कंडोम पहनाने लगीं.

उस समय मुझे अपनी मॉम को इस तरह से नंगी देखकर बहुत मज़ा आ रहा था और उनकी चुदाई देखने के लिए मैं बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गया था.

अब उन दोनों ने मेरी मॉम की चुदाई की पोजीशन बनाई.
राहुल सोफे पर बैठ गया और उसने मेरी मॉम को इशारा किया. मेरी मॉम राहुल के खड़े लंड के ऊपर अपनी चुत सैट करती हुई बैठ गईं.
वो अपनी चूचियां राहुल के सीने से रगड़ रही थीं.

राहुल अपने लंड को हाथ से पकड़ कर मॉम की चूत में पेलने लगा.
मेरी मॉम अपने दांतों से होंठों को दबा कर लंड चुत में लेने लगीं.
राहुल का मोटा लंड मेरी मॉम की चुत में जाने लगा तो मॉम की मदभरी कराह निकलने लगी.

उसी समय राहुल ने मेरी मॉम को जोर से अपने लंड पर दबा लिया तो वो ‘आह मर गई …’ कह कर सिसिया उठीं.

एक मिनट बाद लंड ने मेरी मॉम की चुत में जगह बना ली थी और राहुल मेरी मॉम की चुत में लंड पेलने लगा.

मेरी मॉम कराह रही थीं और लंड ले रही थीं.

तभी अब्दुल ने एक नीट पैग बना कर मेरी मॉम के होंठों से लगा दिया.
मेरी मॉम ने एक झटके में पैग पी लिया और राहुल के होंठों को चूस कर अपना स्वाद ठीक कर लिया.

मैंने देखा कि मेरी मॉम की आंखों में नशा छा गया था और मोटे लंड का दर्द खत्म हो गया था.

कुछ पल बाद राहुल और अब्दुल की आंखों में कुछ इशारा हुआ. राहुल ने मेरी मॉम को अपनी बांहों में जकड़ लिया.
तभी अब्दुल ने पीछे से मेरी मॉम की खुल हुई गांड में अपना मूसल ठांस दिया.

मॉम की चीख निकल गई.
मगर उसी समय राहुल ने मेरी मॉम के होंठों को अपने होंठों से दबा लिया और मॉम की कसी हुई चूत और गांड दोनों ओर से बजने लगी.

मेरी मॉम को इतने बड़े बड़े मूसल किस्म के लंड अपनी चुत और गांड में एक साथ लेने से काफी दर्द हो रहा था.
उनका सहारा बस दारू का नशा था, जिस वजह से मॉम चुदाई का मज़ा ले रही थीं.

कुछ देर तक मॉम की गांड चोदने के बाद अब्दुल ने मॉम को ऊपर उठा कर अपने कंधों पर ले लिया.
इससे राहुल और अब्दुल के लंड मॉम की चुत और गांड से निकल गए.

अब्दुल मेरी मॉम की चूत चाटने लगा और जल्दी ही उसने उन्हें उल्टा कर दिया.
इस अवस्था में मॉम का मुँह नीचे और पैर ऊपर हो गए थे.

मेरी मॉम लटकती हुई अब्दुल का लंड चूस रही थीं और अब्दुल मॉम की चूत चाट रहा था.

कुछ देर बाद उसने मेरी मॉम को नीचे उतार दिया.
अब राहुल मेरी मॉम को पकड़ कर उन्हें खींचते हुए मेरे पास लेकर आ गया.

राहुल- साले देख तेरी मॉम को, साली कितनी सेक्सी है … नंगी होकर कितनी हॉट माल दिख रही है.
मॉम नशे में झूमती हुई बोलीं- सॉरी बेटा, ये सब मैं तेरे लिए कर रही हूँ.

राहुल ने मॉम की तरफ अपनी गांड कर दी और मॉम से गांड चाटने को बोला.
मॉम- नहीं, मैं ये नहीं करूंगी.

अब्दुल ने मॉम के बाल पकड़कर कहा- चाट ले साली रंडी … तुझे मजा आएगा.
फिर राहुल बोला- चल गांड न चाट पर मेरा लंड तो चूस.
उसने अपना लंड मॉम के मुँह में भर दिया.

अब्दुल ने भी लंड होंठों से लगा दिया. मेरी मॉम के मुँह में दोनों लंड आ गए थे.

कुछ देर बाद उन दोनों ने मेरी मॉम को हवा में टांग लिया और उनके दोनों छेदों में लंड चलने लगे.

ये सीन देख कर मुझे बहुत मज़ा आया.
कुछ देर बाद उन दोनों ने मॉम को नीचे उतार दिया और अब्दुल ने अपना लंड मॉम को पकड़ा दिया.
मॉम मुठ मारने लगीं.

कुछ देर में अब्दुल झड़ गया और बाथरूम में चला गया.

इधर राहुल सोफे पर बैठा हुआ था, उसने मॉम को अपने पास बुलाया.
उसने अपने होंठ मॉम के होंठों से लगा दिए और चूसने लगा.

वो दोनों एक दूसरे के होंठ चूस रहे थे और राहुल मॉम के मम्मे दबा रहा था.

कुछ देर बाद राहुल ने मॉम को उठा कर कुतिया बना दिया और पीछे से उनकी चुदाई करने लगा.
वो ज़ोर ज़ोर से मॉम की चुत में झटका दे रहा था, उनके मुँह में अपना हाथ डालकर अपनी ओर खींच रहा था.

मॉम मस्ती में चीख रही थीं.

मेरी मॉम को ताबड़तोड़ चोदने के बाद राहुल ने अपने लंड का सारा माल उनकी चूत में झाड़ दिया.

मैंने ऐसी चुदाई पहले सिर्फ पोर्न में देखी थी, आज सामने से भी देख ली, वो भी अपनी मॉम की चुदाई.
सच में बहुत मज़ा आया था.

कुछ देर बाद सब अपने अपने बदन को साफ़ करके कपड़े पहनने लगे.

मेरी मॉम ने राहुल और अब्दुल से कहा- अब मैं अपने बेटे को ले जाऊं?
अब्दुल- हां ले जा, अपने बेटे को ले जा. आज तुमने हम दोनों का दिल खुश कर दिया.

मॉम- फिर परेशान तो नहीं करोगे न?
राहुल- नहीं बेफिक्र रहो.

मॉम- शुक्रिया.
फिर हम दोनों अपने घर के बाहर आ गए.

मैं- मॉम, मुझे माफ कर दो. आपको मेरी वजह से वो सब करना पड़ा.
मॉम- हां बेटा, मुझे ये सब नहीं करना था. पर कोई और रास्ता भी नहीं था. ये बात तुम घर पर पापा को नहीं बताना.

मैं- हां मॉम, पर एक बात कहूँ.
मॉम ने कहा हां कहो.

मैंने कहा- मॉम आप बहुत सेक्सी हो, जब आप नंगी थीं … तो सच में आपका कोई जवाब नहीं था. पोर्न ऐक्ट्रेस भी आपके सामने फेल हैं.
मॉम हंस कर बोलीं- चुप रह बदमाश … मुझे चुदता देख कर तू तो बहुत खुश हो रहा था ना.

मैं- क्या करता मॉम, आप हो ही इतनी हॉट और सेक्सी.
मॉम बोलीं- अच्छा, तुझे मैं हॉट सेक्सी दिख रही थी?

मैंने कहा- हां.
मॉम ने एक ऐसा सवाल किया कि मेरा लंड तन गया.

वो बोलीं- क्या तुम मुझे चोदने की सोचने लगे थे?
मैंने कुछ नहीं कहा.

मॉम बोलीं- वैसे तेरे पापा मेरे साथ सेक्स नहीं करते हैं, तो मुझे भी अपनी भूख मिटाने की जरूरत पड़ती है.
मैंने कहा- आपको मुझसे जैसी भी इच्छा हो, मैं आपकी सेवा कर सकता हूँ.

मॉम हंस दीं और बोलीं- चल बाद में देखूँगी.
हम दोनों घर के अन्दर आ गए.

आप मुझे मेल करें कि आपको यह डबल सेक्स की यह कहानी कैसी लगी?
[email protected]

Leave a Comment