दोस्त की गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स का मौका

हॉट गर्ल लस्ट स्टोरी हिंदी में पढ़ें कि मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड मेरे पड़ोस में रहती थी. लॉकडाउन के कारण उसे चुदाई का मौका नहीं मिल रहा था. इसका फायदा मैंने उठाया.

दोस्तो, मैं सभी पढ़ने वालों को नमस्कार करता हूँ।

मेरे भी मन में बहुत दिनों से एक कहानी लिखने की इच्छा थी लेकिन मुझे कोई मज़ेदार कहानी लिखने का मन था।
वैसे तो मैं अपने गर्लफ्रैंड के साथ सेक्स कर चुका था लेकिन उसमें वो मज़ा नहीं था कि मैं उस पर मजेदार कहानी लिख सकूँ।

लेकिन इस कोरोना काल में मुझे अपने दोस्त की गर्लफ्रैंड के साथ सेक्स का मौका भी मिला.
साथ ही कहानी लिखने के लिए मज़ेदार सेक्स की घटना भी हो गयी।

यह हॉट गर्ल लस्ट स्टोरी हिंदी लॉकडाउन में मेरे दोस्त की एक गर्लफ्रैंड के साथ किये गए सेक्स और मौज मस्ती की कहानी है जिसमें मैंने अपनी कामवासना को दोस्त की गर्लफ्रैंड को चोद के शान्त किया.
साथ में उसकी गर्लफ्रैंड को भी संतुष्ट किया।

तो दोस्तो मेरा नाम रोहित है। मैं अभी 24 साल का हूँ.
मेरा एक दोस्त है राहुल!

मेरी अपनी एक गर्लफ्रैंड थी. राहुल की भी एक गर्लफ्रेंड थी. सोनी नाम था उसका!
राहुल की गर्लफ्रैंड सोनी मेरे घर के सामने घर में रहती थी। राहुल ने सोनी को मेरे ही घर ही आ आ कर पटा लिया था।

हम सब एक ही कॉलेज में पढ़ते थे। हम लोग अपने अपने पार्टनर के साथ सेक्स चुदाई करते रहते थे। हम सब का एक दोस्त था रवि … उसी के घर जाके हम सब लोग सेक्स किया करते थे। क्योंकि उसके घर उसके मम्मी पापा नहीं होते थे, वे दोनों जॉब पे रहते और हम सब लोग वहाँ खूब मज़े करते थे।

लेकिन अब हुआ यह कि कोरोना वायरस फैलने की वजह से पूरे देश में लॉकडाउन हो गया। हम सबका घर से निकलना बंद हो गया था।
साथ में हमारे सेक्स पर भी पाबंदी लग गई थी।

अब हम घर पे ही बोर होने लगे थे।

एक दिन मेरी बात राहुल की गर्लफ्रैंड सोनी से हो रही थीं।
हम लोग अपने बीते दिन के बारे में बात कर रहे थे।

बात करते हुए हम दोनों सेक्स की बात पर आ गए।
वो बोली- यार, मैं राहुल के साथ अक्सर मजा कर लेती थी। अब इतने दिन हो गए … बहुत मन कर रहा है सेक्स का! कंट्रोल भी करना मुश्किल हो रहा है. पता नहीं ये करोना कम खत्म होगा और हमें कब मौक़ा मिलेगा.

यही बात मैंने भी उसे कही- हां यार सोनी … मेरा भी बहुत मन हो रहा है सेक्स करने का। और मेरे वाली अपने घर में कैद है इस लॉकडाउन के कारण! साला हाथ से उतना मजा नहीं आता जितना गीले छेद में आता है.

चूंकि हम लोग एक साथ रवि के घर में सेक्स करते थे तो हमारे बीच कुछ शर्म बची नहीं थी. पर सेक्स हम अपनी अपनी गर्लफ्रेंड के साथ ही करते थे.

हमने ऐसा कर के एक महीना काट लिया लेकिन अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था।
मैं तो मूठ मार के थक चुका था, अब मुझे चूत चाहिए थी।

एक दिन सोनी ने अपने स्टेटस में बहुत सेक्सी फ़ोटो डाली.
उसे देख कर मेरा मन उस पर मोहित हो गया। मेरा लंड भी सलामी देने लगा. मैंने उसकी फोटो को देख के मुठ भी मार ली।

अब मैंने सोचा कि क्यों न सेक्स करने के लिए दोस्त की गर्लफ्रेंड सोनी को राजी किया जाये। मैंने हॉट गर्ल लस्ट का फायदा उठाने की सोची.

ये तो मेरे घर के बगल वाले घर में रहती है, हमारे मिलने का कोई न कोई उपाय मिल सकता है।

उसी दिन जब मैं उससे बात कर रहा था तो वो मुझे बोल रही थी- अगर राहुल नजदीक रहता तो उसे रात को अपने घर बुला लेती तो मजा आ जाता।
इस पर मौक़ा पाकर मैंने उसी वक़्त कहा- अब राहुल तो नहीं आ सकता है तो मुझे ही बुला लो।
वो बोली- अरे यार ये तुम बोल क्या बोल रहे हो?

मैंने कहा- सही तो बोल रहा हूँ। अब राहुल आ नहीं सकता और तुम्हें भी सेक्स करने का मन है और मुझे भी, तो हम दोनों एक दूसरे की कमी को पूरी कर देते हैं।

वो कुछ देर सोचने के बाद बोली- साले हरामी … दोस्त के माल पर बुरी नजर डाल रहा है कुत्ते!

मैं बोला- तो क्या हुआ … हम दोनों एक दूसरे की मदद ही तो करेंगे.

बॉयफ्रेंड फिर बोली- तो क्या तुम आ सकते हो?
मैंने बोला- हाँ … बिल्कुल … कब और कैसे आना है, ये बताओ तुम!
फिर वो बोली- मेरा कमरा ऊपर है. रात को जब मेरे घर सो जायेंगे तो तुम पीछे के गेट से सीधा सीढ़ी से ऊपर आ जाना।

अब हम दोनों ने प्लान बना लिया कि अब तो सेक्स कर के रहेंगे।
मैं रात होने का इंतज़र करने लगा था।

जब 12 बज गए तो मेरे घर में सब सो गए थे।

मैं उस दिन जानबूझकर बाहर वाले कमरे में सोया था ताकि जाने में दिक्कत न हो।
कुछ देर बाद सोनी का कॉल आया, वो बोली- सब सो गए हैं, तुम अब आ जाओ यार।

मैं छुप छुप के उसके घर के पीछे पहुँच गया।
उसने पहले से अपने घर के पीछे वाला गेट खोल के रखा हुआ था।

मैं सीढ़ियों से सीधा ऊपर उसके कमरे में चला गया।

वो नाईट सूट में थी। वो उसमें भी बहुत खूबसूरत लग रही थी।

मैं उसके रूम में जाते ही उसके गले लग गया।
हम दोनों एक दूसरे से लिपट गए थे।

मैं सोनी को किस करने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी थी।
हम दोनों के अंदर सेक्स की आग बराबर लगी हुई थी।

मैं उसे कस के पकड़ के किस किया जा रहा था और वो धीरे धीरे पीछे जा रही थी।

मैंने उसे दीवाल में लगा दिया और दोनों के होंठ एक दूसरे को चूमे जा रहे थे।

मैं अब उसको चूमता हुआ उसकी गर्दन पे आ गया.
वो मदहोश हो रही थी।

मेरे हाथों ने उसकी चूचियों को दबोच लिया था।
उसकी चूचियां बस 28″ साइज की थी.
उसकी पतली कमर और कमसिन जवानी मेरा लण्ड को खड़ा कर चुकी थी।

मैं किस करता हुआ नीचे गया और उसकी लोअर को नीचे खींच दिया।

सोनी ने अंदर भूरे रंग की पैंटी पहनी हुई थी।

उसने खुद से अपने लोअर को अपनी टांगों से निकाल दिया और फिर मेरा टीशर्ट खोल दी।

वो अब मेरे शरीर को चूम रही थी. वो चूमते हुए मेरे सीने पर काट भी रही थी।

अब मैं अपना हाथ उसकी पीठ पर फिराते हुए उसके चूतड़ों पर ले आया और उनको पकड़ कर दबा रहा था।

अब मैंने उसे अपनी बांहों में उसकी हिप्स के सहारे उठा लिया और उसे बेड पे ले जाकर टिका दिया।

मैं अब उसकी नंगी टांगों को चूमता हुआ उसकी चूत के पास गया जाँघों को चूमने लगा.

मेरे दोस्त की प्रेयसी पानी से निकली मछली की तरह छटपटा रही थी; वो चुदने को बेताब हो रही थी।

मैंने अब उसकी टॉप को खोल दिया और अपना पैंट भी उतार दिया।

वो ब्रा पैंटी में बहुत हॉट दिख रही थी।

मैंने तब उसकी ब्रा को खोला और फिर पैंटी भी उतार दिया।
हम दोनों अब पूरे नंगे हो गए थे।

मैं अब सोनी के ऊपर आ गया और उसकी चूत में लण्ड का मुंड रगड़ने लगा.
सोनी वासना से सिसकारियां भर रही थी. वो अपने चूतड़ ऊपर उछाल रही थी, चाह रही थी कि मेरा लंड उसकी चूत में घुस जाए!

मैंने उसे ज्यादा ना तड़पाते हुए अपना लंड चूत के अंदर धकेल दिया।

सोनी ने अपने होंठ भींच लिए, अपना मुंह बन्द कर लिया.
उसकी आँखें बड़ी बड़ी हो गयी थी।

सोनी काफी दिनों के बाद लण्ड ले रही थी तो उसकी चूत सिकुड़ गयी थी. इससे उसे थोड़ी दिक्कत तो हुई थी।

लेकिन मेरे कुछ झटकों के बाद बाद उसे भी मज़ा आने लगा था।
मैं भी आज अपनी काफी दिनों की चुदाई की कसर पूरी कर रहा था।

हम दोनों सेक्स का भरपूर मज़ा ले रहे थे।
मैं उसे अलग अलग पोज़ में चोद रहा था।

सोनी मेरी चुदाई से खुश हो गयी थी।
मैंने उसे पूर्ण संतुष्ट कर दिया था। वो पूरा मजा लेकर झड़ी. उसके मुख से किलकारियां निकलने लगी तो मैंने उसके होंठों पर होंठ रख कर उसकी आवाज दबायी. नहीं तो शायद उसके घर वाले उसकी आवाज सुन सकते थे.

अब मेरे अंदर की कामवासना शांत हो चुकी थी क्योंकि मैं सोनी की चूत के नादर ही भरपूर वेग से झड़ गया था।

उस रात हम दोनों ने 4 बार सेक्स किया।
हमने 12 बजे चुदाई शुरू की थी और अब 3 बज चुके थे।

उसके बाद मैंने दोबारा चुदाई के बारे में पूछा तो कहने लगी कि फोन पर तय कर लेंगे.
फिर मैंने पूछा कि अगली बार वो गांड मरवाएगी ना!
इस पर उसने मेरे चेहरे पर हल्का सा थप्पड़ मारा और बोली- हट गंदे!

फिर उसने मुझे वापिस जाने को कहा तो मैं उसे नंगी छोड़ कर अपने कपड़े पहन कर अपने घर चुपके से आ गया।

अब मैं 2-3 दिन में उसे चोदने चला जाता था।
हम दोनों लॉकडाउन में भी चुदाई का भरपूर मज़ा ले रहे थे।

आप अपने कमेंट और ईमेल करके बताएं कि आपको मेरी हॉट गर्ल लस्ट स्टोरी हिंदी कैसी लगी.
[email protected]

Leave a Comment