बीबी की चुदाई

Posted on

नमस्ते दोस्तों मैं राज एक नई कहानी के साथ हाज़िर हूँ , जो मेरी पत्नी पूजा और उसके बचपन के दोस्त सनी के साथ है। जब मुझे पता चला कि मेरी पत्नी सनी से प्यार करती है और उससे चुदना चाहती हैं तो मैं बहुत खुश हुआ।

मैने उसको सनी के साथ चुदने के लिए उकसाना शुरू कर दिया। मगर वह तैयार नही हुई बोली बचपन की बात शादी से पहले खत्म हो गई। अब मैं आपकी पत्नी हूँ मुझ पर सिर्फ आपका अधिकार है। मैंने कहा जब मैं खुद तुम्हें कह रहा हूँ तो क्या परेशानी है। मैं तो चाहता हूं कि तुम सनी से बार बार चुदवाओ। पर वह नहीं मान रही थी।

तब मैंने एक प्लान बनाया और पूजा को चोदते समय कभी जल्दी झड़ जाता था तो कभी जब वह झड़ने के कगार पर होती तो मैं उससे कहता कि समझो उसको मैं नहीं बल्कि सनी चोद रहा है। यह सुनकर वह नाराज होती तो मैं कहता कि सोचो अगर सनी तुम्हें अपने बड़े और मोटे लन्ड से चोदेगा तो कितना मज़ा आएगा।

यह सुनकर उसकी चूत और पनिया जाती। धीरे धीरे वह सनी से चुदने के लिए तैयार हो रही थी।

एक बार मैने पूछा सनी का लन्ड देखा है तो वो बोली हाँ एक बार जब वो नल पर नहा रहा था तो देखा था। मैं बोला कैसा है तो बोली बहुत बड़ा और मोटा है। मैं समझ गया कि थोड़ी मेहनत से वो सनी से चुदने के लिए मान जाएगी। फिर मैंने प्लान बनाया और पूजा के फोन से सनी को मिसकॉल दे दी।

थोड़ी देर बाद सनी का फोन आया तो दोनों आपस में बात करने लगे। मैं दोनों की बातें सुनता था। इधर मैं पूजा को सनी से चुदने के लिए उकसा रहा था उधर सनी पूजा को पटाने की कोशिश में लग गया था। दोनो बचपन की बातों को याद करते हुए एक दूसरे को छेड़ने लगे थे। अब पूजा का मन भी सनी से चुदने को मचलने लगा था।

सनी पूजा से कहता यार हमारी जोड़ी कितना हिट रहेगा न काश तुम एक बार मिल जाती तो तुम्हें अपने मोटे लन्ड से जमकर चोदता। तुम्हारी चूत को अपने माल से भर देता। यह सुनकर पूजा की चूत पानी छोड़ने लगी थी।

पर वह बोली ज्यादा हीरो न बनो मैं सिर्फ अपने पति के लिए हूँ। पति के अलावा कोई मुझे छू भी नहीं सकता। सनी बोला ठीक है पर तुम एक बार मेरा लन्ड देख लो इतना कह कर उसने अपने लन्ड को फोटो भेजी जिसे देखकर पूजा मस्त हो गई थी।

पर कुछ बात ऐसी हुई कि आपस मे बात चीत बन्द हो गई। पर पूजा सनी को हमेशा याद करती थी। वह रोज उसके लन्ड की फोटो को रोज देखती थी।

इस बात को 5 महीने हो गये थे एक दिन मैं पूजा को चोद रहा था कि मैने पूजा से पूछा बताओ अभी किससे चुदवा रही हो वो सिसकारी भरते हुए बोली विनय से। पर मैं तो उसे सनी से चुदाई करवाने की सोच रहा था।

अब मेने सनी से सीधे बात करने की सोची। पहले कुछ दिन नार्मल बात हुई फिर मैंने सीधे पूछा क्या वह पूजा को चोदना चाहता है। पहले तो वो डर गया लेकिन मेरे दुबारा पूछने पर हाँ कर दी।

मेने पूछा क्या उसे मेरे ऊपर विश्वास है तो मेरी दो शर्त है। एक तो उसे अपनी पत्नी मुझे चोदने के लिए देनी होगी और दूसरी उसे पूजा से शादी करके दो तीन दिन के लिये मिल सकती है। वो बोला अगर मैं मान लूँ तो ये सब होगा कैसे। मेने उसको अपना प्लान बताया। वो बोला पूजा मानेगी। मैं बोला उसको आखिर में बताएंगे।

प्लान के अनुसार पहले मेने उसकी बीबी को चोदा पर मेरा मेन मकसद तो पूजा और सनी की चुदाई थी। मैने सनी को बृंदावन बुलाया और दो अलग धर्मशाला में दो कमरे बुक करने को कहा।

मैं भी पूजा को लेकर सुबह 8 बजे पहुँच गया। हम सीधे निधिवन पहुंचे जहां सनी हमारा इंतजार कर रहा था। सनी को देखकर पूजा चौंक गई। तब मैंने उसको सारी बात बता दी।

लेकिन वह गुस्सा हो गई और घर चलने को बोली। तब मेने उसे प्यार से समझा कर तैयार किया। वो रोने लगी और बोली मैं सिर्फ अपने पति के लिए हूँ। तो मैने सनी को इशारा किया तो उसने पहले पूजा की मांग को सिंदूर से भर दिया और फिर उसके गले मे मंगलसूत्र पहना दिया। फिर दोनों ने राधे रानी को प्रणाम किया।

मैने पूजा से कहा कि अब सनी तुम्हारा पति है अब तुम जाओ और दो दिन तक खूब चुदाई के मज़े लो। मैं दो दिन बाद तुमसे यही मिलूंगा। फिर वह दोनों मुस्कुराते हुए एक दूसरे के हाथ में हाथ डाल कर चले गए।

अब आगे की कहानी पूजा की जुबानी

मैं अपने प्रियतम के साथ बांकेबिहारी के मंदिर में आ गई और उनका आशीर्वाद प्राप्त किया, सनी मेरे साजन मुझे बड़े प्यार से देख रहे थे। मैं शर्म से नज़र नहीं मिला पा रही थी। सनी ने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे लेकर होटल के रूम में आ गए। मुझे दरवाजे पर खड़ा कर के मेरी आरती उतारी फिर अंदर आने को बोला।

मेने उनके पैर छू कर अपनी माँग भर ली। सनी ने मुझे उठा कर सीने से लगा लिया। मेरी चुचिया उनके सीने में दबी हुई थी। फिर वो मेरे होंठों को चूमने और चूसने लगे। मज़े से मेरी आँख बंद हो गई। मैं भी धीरे धीरे उनको चूमने लगी। फिर हम एक दूसरे की जीभ को चूसने लगे।

अब उनका एक हाथ मेरी चुचिया दबा रहे थे तो दूसरा मेरी गांड दबा रहा था। फिर मेरे सारे कपड़े निकाल दिया और अपने भी निकाल कर हम फिर लिपट कर चूमने लगे। अब सनी ने मुझे नीचे बैठने का इशारा किया। बैठते ही उनका 8 इंच लन्ड मेरे मुंह के सामने आ गया।

उन्होंने अपना लन्ड मेरे मुंह मे दे दिया और मैं मज़े से उसे आइसक्रीम की तरह चाटने और चूसने लगी। सनी को बड़ा मजा आ रहा था वो अपने लन्ड से मेरे मुंह को चोद रहे थे। दस मिनट मेरा मुह चोदने के बाद अपना गाढ़ा मलाई दार वीर्य मेरे मुह में छोड़ दिया। मुझे उसका टेस्ट बहुत अच्छा लगा। और मैं सारा वीर्य पी गई और लन्ड को चाट कर साफ कर दिया।

अब उनकी बारी थी। सनी ने मुझे बेड पर लिटा दिया और मेरे होंठ को चूसने लगे। फिर नीचे आ कर मेरी चुचिया पीने लगे लग रहा था जैसे उसमें से दूध निकल रहा हो। फिर नीचे आकर मेरी चूत चाटने लगे। मेरी चूत बहुत पानी छोड़ रही थी। वो बड़े मजे से उसे चाट रहे थे। मैं मज़े से आसमान में उड़ रही थी। फिर मैं भलभला कर उनके मुह में ही झड़ गई। उन्होंने सारा रस चाट कर साफ कर दिया।

अब मेने खीच कर अपने ऊपर कर लिया और उनके होंठ चुम कर बोली जानू अब चोद दो मुझे। मैं आपसे चुदने के लिए बेताब जो रही हूं। अपना लन्ड मेरी चूत में डाल कर चोदो मुझे। मैं आपके वीर्य से गर्भवती होना चाहती हूँ।

इतना सुनकर उन्होंने अपना लन्ड मेरी चूत पर सेट कर एक ही धक्के में पूरा लन्ड पेल दिया। लन्ड जा कर सीधे बच्चे दानी से टकराया मैं मज़े से चीख पड़ी। उन्होंने ताबड़तोड़ चुदाई शुरू करदी। उनका लन्ड मेरी चूत में कसा हुआ था।

मैं मज़े से सिसकारी भरते हुए चुदवा रही थी। दस मिनट के बाद उन्होंने एक करारा शॉट मारा और मेरी योनि को अपने वीर्य से भर दिया। हमने दो दिन और दो रात तक खूब चुदाई की।

मेरा उस महीने का डेट मिस हो गई और मैं प्रेग्नेंट हो गई। नौ महीने बाद मैने एक सुंदर से बेटे को जन्म दिया। मेने उसका नाम भी सनी रखा है।

समाप्त

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *