फोन सेक्स के बाद कुंवारी चूत की चुदाई

Chut Gand Chudai Kahani – कुंवारी लड़की फोन सेक्स के बाद चुदी

इंडियन चूत गांड चुदाई कहानी में मैंने पड़ोस की एक कुंवारी लड़की से दोस्ती करके उसके साथ फोन सेक्स किया. फिर मौक़ा पाकर मैंने उसकी सील तोड़ी.

दोस्तो कैसे हो!
मेरा नाम यश वर्मा है और मैं उत्तर प्रदेश के मोदीनगर शहर से हूं.

ये मेरी इस साइट पर पहली कहानी है जो कि मेरे पड़ोस की एक बहुत ही सुंदर लड़की की है.
मेरी उम्र 24 साल है और मेरे लंड का साइज 7 इंच है.

अब इंडियन चूत गांड चुदाई कहानी में एक साल पीछे चलते हैं. मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं थी क्योंकि मैं अपनी लाइफ में बहुत व्यस्त था.

एक दिन मेरे पड़ोस की लड़की मेरी मम्मी के पास अपने किसी काम से आई हुई थी, उसका नाम पायल था.
पायल मेरी सेक्स कहानी का मुख्य किरदार है.

जब पायल मेरे घर आई तब मैं बाथरूम से नहा कर निकला था.
मैं सिर्फ तौलिए में ही था तो वो मुझे देख कर एकदम से सकपका गयी जबकि हम बचपन में साथ खेलते थे.

फिर पायल ने मुझसे कहा- यश मुझे तुम अपना नम्बर दे दो, मुझे तुमसे कुछ मार्केट से मंगाना है.
मैंने उसे अपना नम्बर बता दिया.

दो तीन दिन बाद एक नंबर से मुझे मैसेज आया.
वो नम्बर पायल का ही था और वो मुझसे चैटिंग करने लगी.

धीरे धीरे हम दोनों रोज चैटिंग करने लगे.
हालांकि मेरे पास समय की समस्या थी तो मैं उसके मैसेज का जवाब कुछ देर बाद देता था.

फिर एक रात:

पायल- तुम मुझे बहुत पसंद हो यश. मैं तुमसे और भी कुछ बात करना चाहती हूं.

इधर आगे बढ़ने से पहले मैं आपको उसके बारे में बता देता हूँ.

पायल की उम्र 20 साल की थी, उसके बूब्स 34 इंच के थे और गांड भी बहुत मोटी थी.
एक तरह से बोलूं तो पायल एक गोल-मटोल शरीर की मस्त लौंडिया थी.

मैं तो उसके मम्मों को ही देख कर आह भरने लगा था.

कुछ दिन बीत गए और उसे मुझसे प्यार हो गया लेकिन मैं अपने ऑफिस में व्यस्त रहता था और वो अपने घर में.

हम सिर्फ चैट और कॉल पर ही बात कर पाते थे.

एक दिन उसने मुझे सेक्स चैट करने के लिए हल्का सा हिंट दिया लेकिन मैं समझ नहीं सका.
बाद में जब मैंने उसे कॉल की तो उसने मेरी कॉल कट कर दी.
वो अब मुझसे बात नहीं कर रही थी.

मैंने अपने दोस्त को सारी स्थिति बतायी तो वो मुझसे बोला- अबे तू चूतिया है, वो तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहती है.

फिर क्या था, मैं रात होने की प्रतीक्षा करने लगा.

जैसे ही रात हुई, मैंने उसको एक वीडियो भेजा, जिसमें एक लड़का एक लड़की को कसके गले लगाए हुए था और उसे दीवार से लगा कर उसकी गांड अपने हाथों से मसल रहा था. वो लड़का उस लड़की को बहुत जोर से किस करने लगा.

पायल ने मुझसे पूछा- ये सब क्या है?
मैं- जब हम पहली बार मिलेंगे, तो हम भी ऐसे ही मिलेंगे.
वो भी वीडियो देख कर गर्म हो गयी थी.

पायल अब मजे लेने लगी और बोली- हां बेबी जरूर.
मैं- मैं तुम्हें ऐसे ही अपनी बांहों में कसके जकड़कर तुम्हारी गांड को मसलूंगा और तुम्हारे होंठों को काट खाऊंगा, तुम्हारी चूचियों को भी उतना ज्यादा चूसूंगा, जब तक तुम्हारा दूध न निकल जाए.

पायल- हां बेबी, ऐसा ही करना, तुम मुझे पूरा अन्दर से तोड़ देना.
मैंने उससे कहा- अब कॉल अटेंड करना, मैं तुम्हें कॉल कर रहा हूँ.
वो बोली- ओके.

मैं- फोन को स्पीकर पर रख दो और जैसा-जैसा मैं बोलूंगा, तुम वैसा ही करना.
पायल- ठीक है.

मैं- बेबी मैं अपना एक हाथ तुम्हारे बालों में डाल कर पकड़ रहा हूँ और दूसरा हाथ तुम्हारी कमर में डाल कर सहला रहा हूँ. तुम्हें जोर जोर से किस कर रहा हूँ. पहले मैं तुम्हारे ऊपर वाले होंठों को चूस रहा हूं और तुम मेरे नीचे वाले होंठ को चूस रही हो. तुम्हारे हाथ मुझको कस कर जकड़ रहे हैं.
पायल- हां यश, मैं ऐसा ही कर रही हूं. तुम बोलते रहो.

मैं- फिर मैंने तुम्हें बिस्तर पर गिरा दिया और तुम्हारे ऊपर आकर अपने दोनों हाथों से तुम्हारी चूचियों की मालिश करने लगा.

उस समय हम दो अलग जगह थे लेकिन बातचीत से हम इतने करीब महसूस करने लगे थे कि मैं सारी बात सिर्फ बोल नहीं रहा था, महसूस भी कर रहा था.

पायल का भी यही हाल था.
उसके चूचियां टाइट होती जा रही थीं.
इधर मेरा लंड भी पूरा टाइट हो गया था और पैंट से बाहर आने के लिए तड़प रहा था.

पायल- जान, अब मुझसे और नहीं रहा जाता, मुझे कपड़ों से आज़ाद कर दो.
मैं- हां पायल, मैं अब तुम्हारा टॉप निकाल रहा हूँ और तुम्हारी चुचियों को ब्रा के ऊपर से ही चूमने लगा हूं. मैं अपनी जीभ से तुम्हारे भूरे निप्पल और गर्दन को चाटने लगा हूं.

पायल- हां बेबी, मैंने भी तुम्हारी टी-शर्ट उतार दी है. अब तुम्हारी पैंट में हाथ डाल कर अंडरवियर के ऊपर से ही तुम्हारे लंड को पकडकर हिलाने की कोशिश कर रही हूं.

मैं- हां बेबी, मैंने तुम्हारी पैंट उतार दी है और मैं अब सिर्फ अंडरवियर में हूं.
पायल- फिर अपनी कुतिया को पूरा नंगा कर दो.

मैं- आई लव यू बेबी … मैंने तुम्हारे सारे कपड़े उतार दिए हैं. अब तुम बिस्तर पर पूरी नंगी चुदने के लिए, एक मछली की तरह तड़प रही हो.

पायल- हां बेबी, फिर चोदो ना. इंतजार किसका कर रहे हो?
मैं- ऐसे नहीं मेरी जान, अभी तो मजा शुरू हुआ है. पहले थोड़ा प्यार तो करने दो. मैं तुम्हारी टांगों के बीच में हाथ फिरा रहा हूं और तुम मचल कर डोल रही हो.

वो हम्म आह करने लगी.

‘मैं अब तुम्हारी पैंटी के पास अपने होंठों से प्यारी किस कर रहा हूँ और थोड़ी सी पैंटी उठा कर तुम्हारी चूत की महक ले रहा हूँ.’
‘अब मैं तुम्हारी चूत को अपनी जीभ से चाट रहा हूं, तुम्हारी चूत एकदम गीली हो गयी है.’

पायल- बेबी मुझे कुछ हो रहा है. मैं भी तुम्हारे साथ-साथ अपनी चूत में उंगली कर रही हूं.

दोस्तो, आप मेरी इस मदभरी सेक्स कहानी को पढ़ रहे हैं, तो मेरी आपसे भी गुजारिश है कि आप अपने लंड को आजाद कर दें और मुठ मारना शुरू कर दें. लड़कियां कहीं आराम से बैठकर अपनी चूत की मालिश शुरू कर दें, वो अपनी उंगलियों से चूत को रगड़ें.

पायल- बेबी कुछ-कुछ हो रहा है मुझे, तुम रुकना मत.
वो अपनी चूत में उंगली करने लगी.

और इधर मैं भी अपने लंड को बहुत जोर जोर से हिला रहा था.
वो बहुत तेज़ आहें भरने लगी.
उसकी चूत से पानी की छप छप आवाज भी आ रही थी जिससे मुझे और जोश आ गया था.
फिर हम दोनों एक साथ झड़ गए.

उस रात हमने आपस में फ़ोन सेक्स करके अपनी आग को और भड़का दिया था.
उसके बाद हम रोज रात को फ़ोन सेक्स करने लगे जिससे हमारे जिस्म में और आग भड़क गई.

एक दिन पायल ने खुद ही कहा- मैं अब तुमसे अकेले में मिलना चाहती हूँ.
मिलना तो मैं भी चाह रहा था.

फिर तीसरे दिन पायल का फोन आया.
वो कहने लगी- आज रात मेरे घर कोई नहीं होगा, सब एक शादी में जा रहे हैं. मैंने तबियत खराब होने का बहाना बना दिया है और घर पर रुक गई हूँ. तुम आज 11 बजे मेरे घर आ जाना.
मैंने ओके कह दिया.

रात में दरवाजे पर जो बल्ब जल रहा था, वो उसने बन्द कर दिया था. इससे मुझे कोई अन्दर आता न देख सके.

मैं उसके घर गया तो उसने दरवाजा खुला हुआ रखा था.
उसने मुझसे फोन पर ही कह दिया था कि तुम इस बात का ख्याल रखते हुए घर में आना कि तुमको कोई पड़ोसी देख न सके.

मैंने इस बात का ध्यान रखा और उसके घर के खुले दरवाजे से सीधे अन्दर घुस गया.

मैं घर में घुसा तो पायल ने फट से दरवाजा बंद कर दिया.
मैंने पलट कर देखा, तो मैं देखता ही रह गया.

आज पायल बहुत ही सेक्सी लग रही थी. उसने लैगी और टॉप पहना हुआ था, जो बहुत टाइट था.

मैं उसको प्यार से देखने लगा तो वो मुस्कुरा कर बोली- अन्दर तो आ जाओ, बाद में देख लेना. अभी पूरी रात बाकी है.
उसने इतना कहकर दरवाज़ा बन्द कर दिया.

मैंने उसकी तरफ बांहें पसार दीं.
वो कटे हुए पेड़ की तरह मेरी बांहों में समा गई.

हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे क्योंकि हम दोनों ही प्यासे थे.

दस मिनट किस करने के बाद मैं उसकी गर्दन को चूमने लगा और टॉप के ऊपर से ही उसके चुचे दबाने लगा.
वो सीत्कार करने लगी- आह आह उससस्स ऊम्म्मह.

उसकी मादक सिसकारियां हॉल में गूंजने लगीं.

मैं उसको गोद में उठा कर बेडरूम में ले गया.
वहां जाते ही मैंने उसको बेड पर लुड़का दिया.
साथ ही मैं खुद उसके ऊपर चढ़ गया और उसको चूमने चूसने लगा, उसके पूरे शरीर को सहलाने लगा.

मेरा लंड पायल की चूत फाड़ने के लिए रेडी था.
मैंने उसको इशारा किया तो उसने मेरे कपड़े निकाल दिए. मैंने भी उसके कपड़े निकाल दिए.

अब वो सफेद ब्रा और काली पैंटी में रह गई थी जबकि मैं एकदम मादरजात नंगा खड़ा अपना लंड हिला रहा था.

वो मेरे खड़े लंड को देख कर एक पल के लिए घबरा सी गई; उसके मुँह से कुछ निकल ही नहीं रहा था.

मैंने उससे पूछा- क्या हुआ?
वो मरी सी आवाज में बोली- तुम्हारा ये बहुत बड़ा और मोटा है.

वो मेरे लंड को बड़ी लालसा से देखने लगी.
मैं उसके करीब आकर लंड को उसके मुँह के सामने हिलाने लगा.

उसने मेरी आंखों में देखा तो मैंने उसे लंड पकड़ने का इशारा किया. उसने मेरे लंड को हाथ से पकड़ा और छोड़ दिया.

वो बोली- इसको तो बुखार चढ़ गया है.
मैंने हंस कर पूछा- कैसे मालूम हुआ… क्या तुम लंड की डॉक्टर हो?

वो मेरे मुँह से लंड शब्द सुनकर शर्मा गई और फिर से लंड पकड़ कर बोली- इसमें डॉक्टर वाली क्या बात है, ये गर्म है. इसलिए मैंने कहा कि इसको बुखार चढ़ा है.
मैंने अपने लंड पर उसके हाथ का कोमल स्पर्श महसूस किया तो मुझे बड़ा मजा आया और मेरा लंड भी हिनहिनाने लगा.

मैंने कहा- तुम इसका बुखार उतार दो.
वो लंड सहलाते हुए बोली- कैसे?
मैंने कहा- इसको ठंडा कर दो.

वो समझ तो गई थी लेकिन मूड में थी इसलिए वो बोली- मैं इसे ठंडा कैसे करूं … क्या इस पर बर्फ घिस दूँ?
मैंने कहा- बर्फ से तो ये और भी गर्म हो जाएगा. इसको अपने शरीर की गर्मी से ठंडा करना पड़ेगा.

वो आंखें नचा कर बोली- शरीर से कैसे?
मैंने झुंझलाते हुए कहा- इसे मुँह में लो. हो सकता है कि तुम्हारे मुँह से ही ये कुछ ठंडा हो जाए.

ये सुनते ही उसने मेरे लंड को अपने मुँह में लिया और लंड चूसने लगी.
मुझे लंड चुसाई में बहुत मज़ा आ रहा था.

कुछ मिनट तक पायल का मुँह चोदने के बाद मैं उसके मुँह में ही झड़ गया.
उसने मेरी सारी क्रीम खा ली थी और मेरे मुँह में अपनी जीभ डाल कर मुझे मेरी मलाई का स्वाद चखाने लगी.

मैंने उसके कान में कहा- अब मेरी बारी है.

वो मुझे अलग होकर बिस्तर पर चित लेट गई.
मैंने उसकी ब्रा और पैंटी निकाली और उसकी चूत को चाटने लगा.

उसकी चूत पहले से ही गीली हो चुकी थी.
चूत चटवा कर पायल बहुत ही ज़्यादा गर्म हो गई.

जीभ से चूत चूसने के बाद मैंने उसकी चूत में पहले एक उंगली डाली, फिर दो डाल दीं और उंगली से ही उसकी चूत की चुदाई करने लगा.

मैंने उंगलियों से कमसिन चूत को ढीला किया और उसके चुचे अपने मुँह में लेकर चूसता रहा.
वो बड़ी मस्त आवाजें निकाल रही थी.

उसके दूध चूसते हुए मैं दांत से उसके निप्पल को काट लेता तो वो ज़ोर से चीख पड़ती.
घर में अकेले होने के कारण हम दोनों को कोई डर नहीं था इसलिए हम दोनों खुल कर सेक्स के मज़े ले रहे थे.

जब पायल ज़्यादा गर्म हो गई तो वो मुझसे बोली- यश, अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है. अब तुम अपना लंड मेरी चूत के अन्दर डाल दो.
मैं उसको तड़पा रहा था लेकिन जब ज़्यादा देर हो गई … तो मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा और धक्का दे दिया.

पायल की चूत नई थी, वो अनचुदी थी इसलिए उसकी चूत बहुत टाइट थी.

हम दोनों समझ गए कि बिना चिकनाई के काम नहीं बनेगा.
मैंने पायल से तेल या क्रीम लाने का कहा.

पायल खुद रसोई से तेल लेकर आई और उसने मेरे लंड और अपनी चूत पर लगा दिया.
उसको इस समय बड़ी चुदास चढ़ी थी इसलिए उसने चुदाई की पोजीशन में लेटते हुए मुझे अपने ऊपर खींच लिया.

मैं जब तक कुछ समझ पाता, उसने खुद ही मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत पर सैट कर लिया.
फिर उसने मुझे इशारा किया और मैंने पूरी ताकत से धक्का दे दिया.

मेरा लंड एक बार में ही उसकी चूत को फाड़ता हुआ अन्दर घुस गया.
मैंने देखा कि मेरा आधा लंड घुस चुका था.
वो दर्द के कारण रोने लगी क्योंकि मेरा लंड 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है.

वो मुझसे लंड बाहर निकालने को कहने लगी तो मुझे उस पर तरस आ गया और मैंने लंड बाहर निकाल लिया.

उसने जब चूत से खून निकलता देखा तो वो घबरा गई.
मैंने उसको समझाया- ये तो सामान्य सी बात है. पहली बार की चुदाई में सभी के साथ ऐसा होता है.

कुछ देर बाद जब वो नॉर्मल हो गई.

तब मैंने दोबारा से लंड उसकी चूत में पेल दिया.
इस बार दो प्रयासों में पूरा 7 इंच लंड पेल दिया जिससे वो फिर से तड़पने लगी थी लेकिन इस बार मैंने कोई रहम नहीं किया.
पूरा लंड पेल कर मैं कुछ देर के लिए रुक गया.

जब उसका दर्द कम हुआ तो वो अपनी गांड उठाने लगी.
उसकी गांड की हलचल से मैं समझ गया कि यह अब चुदने के लिए राजी है.

फिर मैंने धक्के देने शुरू कर दिए.
मेरा लंड उसकी चूत में अन्दर तक पूरा जा रहा था.

अब वो पूरी मस्ती में ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थी- फक मी फक मी हार्ड… माय बेबी … और तेज़ से चोदो … उम्म्ह … अहह … हय याह … फाड़ दो … मेरी चूत लंड की बहुत प्यासी है … आह मेरी जान.

उसकी ऐसे कामुक आवाजें मुझे और जोश दे रही थीं.
मैं और तेज़ चोदने लगा.

मैंने कोई 20 मिनट तक उसकी धुंआधार चुदाई की.
पायल इतनी देर में दो बार झड़ चुकी थी.

अब मैं झड़ने वाला था तो पायल से मैंने पूछा- कहां निकालूं?
उसने कहा- चूत में ही निकाल दो.

मैं दस बारह तेज शॉट मार कर उसकी चूत में झड़ गया.
कुछ देर हम दोनों ऐसे ही एक दूसरे से चिपके पड़े रहे और कुछ देर के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

मैं पायल से बोला- अब क्या ख्याल है मेरी जान?
वो मेरे लंड की तरफ देखने लगी.

इस बार वो घोड़ी बन गई और बोली- मुझे ये पोज पसंद है.

मैं भी उसको इस पोजीशन में चोदने के लिए रेडी था. मैं उसकी गांड की तरफ आया और लंड उसकी चूत में पेल दिया. उसकी मीठी आहें और कराहें निकलना शुरू हो गईं.

मैंने उसकी चूचियों को पकड़ कर उसकी 20 मिनट तक चुदाई की.

वो बोली- मुझे ऊपर आना है.
ये सुनकर मैं नीचे लेट गया और वो मेरे लंड पर बैठ कर खूब मज़े से चुदने लगी.

कुछ देर की मस्त चुदाई के बाद हम दोनों झड़ गए और यूं ही नंगे लेट गए.

हमारी थकान ने हम दोनों को बेसुध कर दिया था.
चूंकि हम दोनों नंगे ही एक दूसरे से चिपक कर लेटे हुए थे तो रात के 3 बजे फिर से शरीर में सुगबुगाहट हुई और हम दोनों जाग गए.

हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे.
जल्दी ही चुदाई का मूड बन गया.

मैंने पायल से कहा- मुझे इस बार कुछ और भी मारनी है.
वो हंसने लगी और बोली- अब क्या बचा?

मैंने बोला- तुम्हारी गांड बहुत सेक्सी है … मैं उसको भी खोलूंगा.
उसने हां बोल दिया.

मैंने लंड पकड़ कर उसकी गांड पर रखा लेकिन नहीं घुसा.
फिर मैंने तेल उसकी गांड पर लगाया और पूरा लंड गांड में पेल दिया.

वो दर्द के मारे ज़ोर से रोने लगी और मुझसे छूटने की कोशिश करने लगी.
लेकिन मैंने उसको कमर से कस कर पकड़े रखा.

जब उसका दर्द कम हुआ तो वो मेरा साथ देने लगी.
फिर हम दोनों ने जम कर चुदाई की.

सुबह 5 बजे के अंधेरे में मैं उसके घर से निकल आया.

इसके बाद हम दोनों ने कई बार चूत गांड चुदाई की. फिर मैं उसे होटल में भी कई बार चोदने गया था.
पायल आज भी मेरे लंड से चुदवाती है

आप सभी को मेरी और पायल की इंडियन चूत गांड चुदाई कहानी कैसी लगी कृपया करके अपने विचार मेरी ईमेल पर भेजें.
[email protected]

Leave a Comment